Sun, 21 Jan 2018 | 12:42 AM
News

सरकार ने विदेशी निवेश के नियमों में लिया फैसला....

केंद्र सरकार के मुताबिक एनआरआइ तथा ओवरसीज निवेशकों के लिये प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के नियमों पर फैसला लेने का मकसद देश में निवेश को बढ़ावा देना है।पी.एम मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने इस आशय का निर्णय किया है। इससे अर्थव्यवस्था और शिक्षा में निवेश के मामले में पीआइओ और ओसीआइ वर्ग के निवेशकों को एनआरआइ के समान माना जाएगा। एक अधिकारी ने कहा कि वापस नहीं जाने योग्य (नान रिपैट्रिएबल) एनआरआइ कोष को घरेलू निवेश माना जाएगा। सरकार वापस नहीं जाने वाले एनआरआइ के निवेश को घरेलू निवेश मानकर उन एनआरआइ के कोष का उपयोग करना चाहती है जिन्होंने विदेशों में बडी कंपनियां स्थापित की हैं।

News

शेयर बाजार शुक्रवार को गिरावट के साथ खुले

News

आज शेयर बाजार में तेजी का रूख देखा जा रहा

News

अंतरराष्ट्रीय बाजार से मिले खराब संकेतों की वजह से घरेलू बाजारों में जोरदार गिरावट दर्ज की गई

View All