Sun, 21 Jan 2018 | 12:45 AM
News

सुप्रीम कोर्ट ने आईटी एक्ट की धारा-66ए निरस्त की, सोशल मीडिया से जुड़ा था कानून, आपत्तिजनक पोस्ट करने पर गिरफ्तारी का था प्रावधान।"

अब पुलिस आनन- फानन में किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकती हैं।। इसका मतलब सोशल मीडिया पर आपतिजनक बातों को फाइंड आउट करने के लिए पुलिस वक़्त लेगी और सबूत मिलने पर ही कानून के अनुसार अरेस्ट कर सकती हैं। कार्टून बनाया अरेस्ट किया लाइक किया अरेस्ट किया कुछ लिखा अरेस्ट किया जो उचित नहीं है। मगर, IT ऐक्ट के तहत दूसरे धाराओं (सेक्शन) के तहत अरेस्ट करने का प्रावधान बरकरार है।

News

जम्मू कश्मीर में भारी बारिश बाढ़ के आसार ,फिर से सैलाब का झटका ,बाढ़ से किया गया अलर्ट जारी

News

ज़हर खा कर बिहार के मशहूर गायक और उसके परिवार वालो ने की आत्महत्या

News

चेन्नई के इस अनोखे रेस्टोरेंट में पुलिस लेती है ऑर्डर, कैदी खिलाते हैं खाना

View All